img
img
img

जिला में टूटी सडक़ों के गढ्ढे भरने के लिए विशेष अभियान चलाया जाएगा। इसके लिए बाकायदा कमेटी गठित कर इस पर कार्य शुरू कर दिया गया है। उपायुक्त सुशील सारवान ने यह बात वीरवार को मुख्यमंत्री मनोहरलाल से वीडिया कांफ्रेंस के माध्यम से प्राप्त निर्देशों के बाद सम्बंधित अधिकारियों की बैठक लेते हुए कही।

admin  1 month, 1 week, 6 days ago Top Stories

डीसी सुशील सारवान ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहरलाल ने वीडियो कांफ्रेंस में पानी संचय और टूटी हुई सडक़ों के गढ्ढे भरने के लिए विशेष दिशानिर्देश दिए हैं इसलिए सम्बंधित विभाग इस पर काम करना शुरू कर दे। उन्होंने कहा कि इसके लिए विस्तृत योजना तैयार की जाए। सम्बंधित ठेकेदार जिस भी सडक़ की मुरम्मत करेगा वह उस सडक़ से सम्बंधित विभाग को उसका बिल देगा। उन्होंने कहा कि जल्द से जल्द सभी विभाग अपने विभाग से सम्बंधित सडक़ों का पूरा विवरण उपलब्ध करवाए और जहां-जहां रिपेयरिंग होनी है उसकी भी जानकारी दें।

वीडियो कांफ्रेंस में मुख्यमंत्री मनोहरलाल ने युरिया और डीएपी के साथ-साथ अन्य उर्वरक से सम्बंधित बाते भी पूछी जिस पर डीसी सुशील सारवान ने कहा कि जिला में खाद की कोई किल्लत नही है। धान की आवक के बारे में पूछने पर उपायुक्त सुशील सारवान ने मुख्यमंत्री मनोहरलाल ने बताया कि जिला में 50 हजार मिट्रिक टन का लक्ष्य रखा गया है। 21 हजार टन की अब तक आवक हो चुकी है जिसमें से 40 प्रतिशत की लिफ्टिंग भी हो चुकी है। उपायुक्त सुशील सारवान ने कहा कि सडक़ रिपेयर काम सभी अधिकारी जल्द से जल्द करवाए और निश्चित समय में इसे पूरा भी करें। उन्होंने एचएसआईडीसी और पंचायती राज विभाग के तहत की जाने वाली गलियों के निर्माण के कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए। भू-जल स्तर को उठाने के लिए लोगों में प्रचार-प्रसार करें। खन्न एवं इंडस्ट्री विभाग मंगलवार और वीरवार को अपनी समस्याओं से सम्बंधित बैठक रखें।

डीसी सुशील सारवान ने कहा कि सभी अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि आज बिजली की कितनी किल्लत हो रही है इसलिए लाईट की ज्यादा से ज्यादा बचत करें, जरूरत ना होने पर सभी उपकरण बंद रखें। पानीपत जिला कृषि और उद्योग पर आधारित जिला है यहां बिजली की मांग भी बहुत ज्यादा है क्योंकि यहां पर बड़े-बड़े उद्योग स्थापित हैं। इसलिए उद्योगों में भी लोगों से अपील करें कि वे अपने उद्योगों में बेवजह लाईट का इस्तेमाल ना करें। इस बैठक में एसडीएम पानीपत धीरज चहल, एसडीएम समालखा अश्वनी मलिक, सीईओ जिला परिषद विवेक चौधरी, सीटीएम रविन्द्र मलिक सहित विकास कार्यो से सम्बंधित विभागों के अधिकारी भी उपस्थित थे।

img
img
img