img
img
img

जिला में किसानों को अपनी फसल बेचने में किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं होने दी जाएगी : उपायुक्त धर्मेंद्र सिंह

admin  2 weeks, 1 day ago Top Stories

PANIPAT AAJKAL , 12 अक्तूबर।  हरियाणा कृषि प्रधान प्रदेश है। हरियाणा की अनाज मंडियों में अनेक प्रकार की सुविधाएं किसानों को उपलब्ध करवाई जा रही हैं, यदि कोई व्यक्ति उनकी उपज न्यूनतम समर्थन मूल्य से कम मूल्य पर खरीदता है अथवा अन्य किसी प्रकार की कटौती करता है तो उसकी शिकायत जिला प्रशासन को की जा सकती है।

यह जानकारी देते हुए उपायुक्त धर्मेंद्र सिंह ने बताया कि जिला में किसानों को अपनी फसल बेचने में किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं होने दी जाएगी। राज्य सरकार ने बहुत ही बेहतरीन व्यवस्था किसानों के लिए की है ताकि मंडी में वे अपने शेड्यूल के अनुसार अपनी फसल लेकर आ सके। इस तरह की व्यवस्था करने वाला हरियाणा प्रदेश देश का पहला राज्य है जहां इस प्रकार से शेड्यूल के अनुसार किसानों की फसल न्यूनतम समर्थन मूल्य पर  खरीदी जा रही है। उन्होंने किसानों से भी आग्रह किया कि वे अपनी फसल को अच्छी तरह सुखाकर लाएं ताकि फसल का लाभदायक मूल्य प्राप्त कर सकें।  उन्होंने कहा कि अधिकारी भी मण्डियों में आने वाले किसानों को सभी प्रकार की सुविधा उपलब्ध करवाएं।

उन्होंने बताया कि जिला की विभिन्न मंंडियों में 11 अक्तूबर तक कुल 75456 मीट्रिक टन धान की आवक हुई, जिसमें से 14813 मीट्रिक टन धान ग्रेड-ए तथा 2355 मीट्रिक टन धान कोमन व 1509 किस्म की 58241 मीट्रिक टन धान की आवक हुई है।

उन्होंने बताया कि बाबरपुर मंडी में कुल 15957मीट्रिक टन धान की आवक हुई, जिसमें  ग्रेड-ए 6824 मीट्रिक टन तथा 1509 किस्म की 9149 मीट्रिक टन धान की आवक की गई। इसी प्रकार बापौली मंडी में कुल 3836 मीट्रिक टन धान की आवक हुई, जिसमें  ग्रेड-ए 628 मीट्रिक टन, कोमन 172 मीट्रिक टन तथा 1509 किस्म की 3035 मीट्रिक टन धान की आवक हुई है।  इसराना मंडी में कुल 653 मीट्रिक टन धान की आवक हुई, जिसमें  ग्रेड-ए 635 मीट्रिक टन और कोमन 18 मीट्रिक टन धान की आवक हुई है। मडलौडा मंडी में कुल 6808 मीट्रिक टन धान की आवक हुई, जिसमें  ग्रेड-ए 2613 मीट्रिक टन तथा 1509 किस्म की 4195 मीट्रिक टन धान की आवक हुई है। पानीपत मंडी में कुल 19583 मीट्रिक टन धान की आवक हुई, जिसमें  ग्रेड-ए 2330 मीट्रिक टन, कोमन 1270 मीट्रिक टन तथा 1509 किस्म की 15960 मीट्रिक टन धान की आवक हुई है। समालखा मंडी में कुल 27585 मीट्रिक टन धान की आवक हुई, जिसमें  ग्रेड-ए 1620 मीट्रिक टन, कोमन 867 मीट्रिक टन तथा 1509 किस्म की 25080 मीट्रिक टन धान की आवक हुई र्है। इसी प्रकार सनौली मंडी में कुल ृ1016 मीट्रिक टन धान की आवक हुई, जिसमें  ग्रेड-ए 163 मीट्रिक टन, कोमन 28 मीट्रिक टन तथा 1509 किस्म की 820 मीट्रिक टन धान की आवक हुई है।

उन्होंने बताया कि जिला की मंडियों में 75456 मीट्रिक टन धान में से मिलर्स तथा डीलरों द्वारा 58288 मीट्रिक टन धान खरीद किया गया और हैफेड द्वारा 12780 मीट्रिक टन धान की खरीद की गई है, एफसीआई द्वारा 3600 मीट्रिक टन, एचडब्लयूसी द्वारा 788 मीट्रिक टन धान की खरीद की गई। बाबरपुर मंडी में 15973 मीट्रिक टन धान में से मिलर्स तथा डीलरों द्वारा 9149 मीट्रिक टन धान खरीद किया गया और हैफेड द्वारा 6824 मीट्रिक टन धान की खरीद की गई। बापौली मंडी में 3836 मीट्रिक टन धान में से  मिलर्स तथा डीलरों द्वारा 3036 मीट्रिक टन धान खरीद किया गया और हैफेड द्वारा 800 मीट्रिक टन धान की खरीद की गई। मडलौडा मंडी में 6808 मीट्रिक टन धान में से मिलर्स तथा डीलरों द्वारा 4195 मीट्रिक टन धान एवं हैफेड द्वारा 1825 मीट्रिक टन धान खरीद किया गया तथा एचडब्लयूसी द्वारा 788 मीट्रिक टन धान की खरीद की गई है। पानीपत मंडी में 19583 मीट्रिक टन धान में से मिलर्स तथा डीलरों द्वारा 15983 मीट्रिक टन धान खरीद किया गया और एफसीआई द्वारा 3600 मीट्रिक टन धान की खरीद की गई। समालखा मंडी में 27585 मीट्रिक टन धान में से मिलर्स तथा डीलरों द्वारा 25098 मीट्रिक टन धान खरीद किया गया और हैफेड द्वारा 2487 मीट्रिक टन धान की खरीद की गई। सनौली मंडी में 1016 मीट्रिक टन धान में से मिलर्स तथा डीलरों द्वारा 825 मीट्रिक टन धान खरीद किया गया और हैफेड द्वारा 191 मीट्रिक टन धान की खरीद की गई। इसराना मंडी में हैफेड द्वारा 653 मीट्रिक टन धान  खरीदा गया है।

img
img
img