img
img
img

प्लास्टिक विरोधी मुहिम को सफल बनाने में आम आदमी को देना होगा विशेष सहयोंग - डी0सी0

admin  1 week, 6 days ago Top Stories

PANIPAT AAJKAL ,  9 अक्तूबर। स्वछता और पवित्रता में परमेशवर निवास करतें है लेकिन सिंगल यूज प्लास्टिक व थमोंकोल और औघोगिक इकाईयो में धटिया प्रयोग करने के कारण तमाम कोसिसो के बावजूद पर्यावर्ण प्रदुषण बढ रहा है इसलिऐ प्लास्टिक विरोधी मुहिम को सफल बनाने में आम आदमी को  विशेष सहयोंग देना होगा।

  यह आहवान करते हुए उपायुक्त सुमधा कटारिया ने कहा कि सिंगल युज प्लास्टिक के खिलाफ छेड़ी जाने वाली मुहिम स्वच्छ भारत अभियान का हिस्सा बनाई गई हैं लेकिन जनतंत्र जनता के सहयोंग के बिना संदेह है कि केवल जागरूकता फेै लाकर अपेक्षित सफलता हासिल की जा सकती है। पर्यावरण मंत्रालय को इससे अनभिज्ञ नहीं होना चाहिए।

उपायुक्त ने कहा कि मानव प्रकृति के निकट रहकर ही स्वस्थ व सुखी जीवन जी सकता है। लेकिन अज्ञानता के कारण लोगों ने भौतिक सुखों के वशिभूत होकर प्राकृतिक संस्थानों का तेजी से शोषण किया है। जिसके कारण भू-जल स्तर तेजी से गिरा है।     उन्होंने बताया कि यूं तो संसार में जल के समुन्द्र भरे पड़े है लेकिन पीने लायक मीठे जल की मात्रा केवल 2 प्रतिशत है। जिसमें से एक प्रतिशत पानीपत  उंचे गलेशियर के रूप में तथा एक प्रतिशत भू-जल व नदियों में है। जिससे यह अंदाजा सहज ही लगाया जा सकता है कि भविष्य में पानी के लिए ही विश्व युद्ध हो सकता है।

उन्होंने कहा कि 90 प्रतिशत बिमारी दूषित हवा व गंदे पानी के कारण होती है और यही कारण है कि आज अविकसित बच्चे जन्म ले रहें है। टीबी, कैन्सर, सांस रोग और त्वचा रोग भी तेजी से बड़ रहे है। यदि हमें एनसीआर क्षेत्र को जीवन के लिए सुरक्षित क्षेत्र अनाना है तो हमें जल और वायु का शुद्ध बनाने में ओर अधिक सहयोग करना होगा। इसके लिए उच्च कोटी का इंधन प्रयोग में लाना होगा। पानी का शुद्ध करके पुन: प्रयोग में लाया जाए और सभी उद्योगों व खेतों और खलिहानों में ओर अधिक पौधारोपण करना होगा। उन्होंने बताया कि इस अभियान को सफल बनाने के लिए गत सप्ताह 27 फैक्ट्रीयों का सर्वे  किया गया। 17 फैक्ट्रीयों को कारण बताओं नोटिस दिए गए, 7 फैक्ट्रीयों को सील किया गया और 742 वाहनों के पॉल्यूशन के चालान भी किए गए हैं लेकिन जनता को स्वेच्छा से ही पर्यावरण को शुद्ध बनाने में ओर अधिक सहयोग देना चाहिए।


img
img
img